मकर - Capricorn (Tenth sign of zodiac)

Raashi Makar
अधिपति शनि
प्रतीक चिन्ह् बकरी।
शुभ बुध,शुक्र, शनि
अशुभ चंद्रमा, मंगल, बृहस्पति
सम सूर्य
मारक मंगल, वृहस्पति
बाधक स्थान वृश्चिक (11वां)।
बाधकपति मंगल
योगकारक शुक्र
उच्चस्थ शुक्र 28°।
नीचस्थ गुरु 3°।
मूलत्रिकोण
आदर्श मिलान राशि कर्क, वृश्चिक, मीन
चंद्रमा की शुभ डिग्री 14°
चंद्रमा की अशुभ डिग्री 20°, 25°
भाग्यशाली परफ्यूम/सुगंध मस्क।
भाग्यशाली रत्न नीला नीलम सोने की अंगुठी में दाएं हाथ की दूसरी उंगली में।
भाग्यशाली रंग श्वेत, काला, नीला, लाल। पीला, क्रीम रंग के प्रयोग से बचें।
भाग्यशाली दिन मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार। निवेश के लिए शनिवार
भाग्यशाली संख्या 6, 8, 9.
व्रत का दिन शनिवार
नियंत्रण हड्डिया व मांस।

विशेष लक्षण :

स्थलीय, चलायमान, चर राशि, अर्ध फलदायक, पृष्ठोदय, दक्षिण, जलीय, स्त्री, नकारात्मक, प्रथम आधा भाग चौपाया व बाद का आधा भाग जलचर, रात का, मध्यम चढ़ावदार, उत्तरायण, वातमय, माघ (15जनवरी-15फरवरी), दोपहर में बहरा, सूर्य- क्षेत्र, शुभ, सौम्य, सम, रात की राशि, धातु, वैश्य, चतुर राशि, पंगु राशि, त्याग की राशि।

रूप, रंग व आकार :

लम्बा, अकड़ा हुआ शरीर, झुका हुआ व दुबला शरीर, उन्नत नाक व कान, बड़ी गर्दन, पतला चेहरा, बड़ा , काले सख्त बाल, नीचले अंग कमजोर, कम मांसल, रक्तमय गेंहुआ रंग, दांत और नीचला होंठ बड़े, हाथ- पैर मोटे व लम्बे, पतली कमर।

सकारात्मक लक्षण/गुण :

दृढ़ इच्छा शक्ति, सजग, कठिन परिश्रमी, महात्वाकांक्षी, उत्तम आंतरिक बल, सहानुभूतिपूर्ण, उदारतापूर्ण और परोपकारी, धैर्यवान, अत्यंत व्यवहारिक, विवेकी, जीवनशक्ति से पूर्ण, उत्तम संगठन कौशल, जीवन के कष्टों का बहादूरी से सामना करना, सचेत, बातुनी, उदार, दूरदर्शीता, विश्वसनीय, गप्पी, दृढ़ निश्चयी, दी गई सलाह को स्वीकार करना, परिस्थितियों के अनुसार समायोजन करने की आदत।

नकारात्मक लक्षण/गुण :

कठोर, कंजूस, वात रोग से पीडि़त, ठंड से एलर्जी, बहुत आलोचनात्क विचार, आलसी, अत्यधिक मांग करना, निष्ठुर, अत्यधिक रूढि़वादी, निर्दयी, दिखावा पसन्द, धार्मिक आडम्बर करने वाले, कर्कश, प्रतिशोधी, निराशावादी, अहंकारी, निर्लज्ज, बेलगाम, धूर्त, पूर्णतावादी – जो संतुष्ट ना होता हो, मुंहजोर, सुस्त प्रकृति।

अधिशासित शारीरिक अंग :

हड्डियां, घुटने का जोड़।

ग्रन्थियां, नसें व धमनियां :

त्वचा।

संभावित रोग :

गठिया/आर्थराइटिस, अम्ल/एसीडिटी, हड्डियों के विकार, अवसाद, एक्जीमा, दाद, घुटनों में चोट, कुष्ठ रोग, श्वित्र/ल्यूकोडर्मा, वातरोग, साइटिका, दांत का दर्द, गर्तदाह।

व्यवसाय व व्यापार :

वास्तुकार, प्रबंधन, शक्तिशाली लोग जो ऐसे काम में हों जहां प्रचूर अधिकार व कुख्याति हो, कुटीर उद्योग, इंजीनियर, तख्त, रासायन, बिल्डर/निमार्णकर्ता ढउंपसजवरूबिल्डर/निमार्णकर्ताझ, दांतों का डॉक्टर, किसान, सार्वजनिक कार्य, गहन ध्यान, बागवानी के उपकरण, जलीय सामान, समुद्री उत्पाद, सिविल सेवक, वैज्ञानिक, आयोजन, सर्वेक्षण या बैंक, जिम्मेदार कार्यकारी कार्य, बन्दरगाह/आश्रयगृह।

राशि वाले :

  1. तार्किक, विवेकी और दृढ़निश्चयी मकर लग्न वालों के प्रतीक शब्द हैं।
  2. ये सामाजिक मामलों में भीरू/डरपोक स्वभाव के होते हैं और हंसी का पात्र बनने के डर से हमेशा चिन्ति्त रहते हैं।
  3. इनकी स्मृति की शक्ति असाधारण होती है और ये बहुमूखी विषयों में रूचि लेते हैं।
  4. मकर लग्न का सूर्य मार तो नहीं सकता है किन्तु परेशानियां उत्पन्न करता है और बुरी तरह कष्ट पहुंचाता है।