सिंह - Leo (Fifth sign of zodiac)

Raashi Sinh
अधिपति सूर्य
प्रतीक चिन्ह् सिंह
शुभ सूर्य, मंगल, बृहस्पति
अशुभ बुध, शुक्र, शनि
सम चंद्रमा
मारक चंद्रमा, बुध, शनि
बाधक स्थान मेष (9वां)।
बाधकपति मंगल
योगकारक मंगल, बृहस्पति
उच्चस्थ
नीचस्थ
मूलत्रिकोण सूर्य (0° -20°)
आदर्श मिलान राशि मेष, मिथुन, तुला, धनु, कुम्भ
चंद्रमा की शुभ डिग्री 19°
चंद्रमा की अशुभ डिग्री 21°, 24°
भाग्यशाली परफ्यूम/सुगंध ओलीबानम/लोबान।
भाग्यशाली रत्न माणिक, पन्ना सोने की अंगूठी में दाएं हाथ की तीसरी उंगली में।
भाग्यशाली रंग लाल, पीला, तांबे जैसा रंग, सुनहरा। काले, नीले रंग का प्रयोग करने से परहेज करें।
भाग्यशाली दिन रविवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार
भाग्यशाली संख्या 1, 4, 5, 9.
व्रत का दिन सोमवार
नियंत्रण जीवनशक्ति/प्राण।

विशेष लक्षण :

प्रज्वलित, अचल, स्थिर, स्थिर राशि, बंजर, शीर्षादय, पूरब, सूखा, पुरुष, समारात्मक, चौपाया, दिनचर, लम्बे उद्गम, दक्षिणायन, पित्तग्रस्त, भादों(15अगस्त – 15सितम्बर), मध्य रात्रि में अंधा, सौर क्षेत्र, अशुभ, क्रूर, विषम, दिन की राशि, मूल(पेड़ पौधे), क्षत्रिय, पाशविक राशि, शाही राशि, स्वर, संगीतमय राशि।

रूप, रंग व आकार :

आकर्षक रंगरूप, चौड़ा चेहरा, कमजोर संरचना, प्रभावशाली व्यक्तित्व, औसत कद, पूर्ण विकसित हड्डियां व चौड़े कन्धे, थोड़ा रक्तमय रंग और आँखें, संयम से बोलना, तेज चाल, अंडाकार चेहरा, लम्बी ठोढ़ी, विचारशील चेहरा।

सकारात्मक लक्षण/गुण :

सत्यप्रिय, गरिमा की भावना, जिम्मेदारी की परिपक्व समझ, प्रचुर उर्जा, विस्तृत विचार, सक्रिय, खुशमिजाज, बहादुर, घर में गौरव, संवेगशील, अत्यंत अध्ययनशील, कला, साहित्य व संगीत का प्रेमी, महात्वाकांक्षी, स्वतंत्र विचारों वाले, क्षमाशील, साहसी, रचनात्मक, अच्छा व्यवस्थापक, प्रभुत्व रखना, निष्कपट, अच्छे मिजाजवाले किन्तु संवेदनशील, गतिशील, खरा, दृढ विचार, शासन/आदेश नहीं दिया जा सकता, उदार, दिलदार, उत्साहपूर्ण, मेहमाननवाज, समायोजक।

नकारात्मक लक्षण/गुण :

असहिष्णु, डींग हाकना, हठीला, घमंडी, बेकार, आडम्बरपूर्ण, अपनी ओर आकर्षित करने और दूसरों के आकार में कटौती करने और अनुचित श्रेय लेने की प्रवृति, बदमाश, अहम् भावना से पूर्ण, संयम से बोलना, लापरवाह रवैया, छोटी – छोटी बातों पर क्रोधित होना, असभ्य, अभिमानी, अधीनता या आदेश नहीं मानना, अडि़यल, तिरस्कार या अंहकार।

अधिशासित शारीरिक अंग :

पेट, नाभि से ऊपर का भाग, हृदय, प्लीहा, पीठ का ऊपरी भाग।

ग्रन्थियां, नसें व धमनियां :

रीढ़ की हड्डी, महाधमनी।

संभावित रोग :

हृदय रोग या हृदय से संबंधित समस्याएं, ज्वर, आंत, रक्त विकार, डायरिया/अतिसार, मधुमेह, पीठदर्द, मूच्र्छा, कंठदाह, मेरूदण्डिय बुखार, पाचन संबंधी समस्या, धड़कन/घबराहट, पित्ताशय, परिसंचरण, कोरोनरीज, शूल, थ्रोम्बोसिस, आँखों की समस्या, चक्कर आना, बदहजमी, पाश्र्वशूल।

व्यवसाय व व्यापार :

प्रशासन, फौज व राजनैतिक सेवाएं, जौहरी, रत्न, सोना, शिक्षक, कार्यकारी नौकरी, तकनीकि व वैज्ञानिक सेवाएं, पेशेवर खिलाड़ी, अभिनेता/अभिनेत्री, कला के क्षेत्र में प्रसिद्धि, सरकार में और कुटनीति में, अनुसंधान, भूविज्ञान, होटल, खाद्यान्न, कृषि, जंगल, पशु, कोयला, पत्थर, संगमरमर, पशुपालन, पहाडि़यां।

राशि वाले :

  1. सिंह लग्न वाले दूसरों की प्रशंसा करते हैं तथा यह भी इच्छा रखते हैं कि दूसरे भी उनकी प्रशंसा करें।
  2. अपने परिवार की महानता का गर्व होता है तथा अपने परिवार के सदस्यों की आलोचना स्वीकार नहीं होती है।
  3. अकेला बुध अनिष्टकारी होता है। जबकि सूर्य, बुध, मंगल का संबंध धन – वैभव प्रदान करता है।
  4. उंचे व नीचे लोगों से मिलना, मानसिक रूप से वृहत स्तर पर सहिष्णुता प्रदान करता है।