Tagged: Life

AkashVani Astrology Post

कर्म, भाग्य और ज्योतिष

जीवन में पुरूषार्थ और भाग्य दोनों का ही अलग-अलग महत्व है जीवन में पुरूषार्थ और भाग्य दोनों का ही अलग-अलग महत्व है। ये ठीक है कि पुरूषार्थ की भूमिका भाग्य से कहीं अधिक महत्वपूर्ण...

AkashVani Astrology Post

तिल और ज्योतिष का संबंध

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तिल और भाग्य दोनों साथ-साथ चलते हैं और ये दोनों व्यक्ति के स्वभाव, कर्म और उनके जीवन में होने वाली अच्छी और बुरी घटनाओं की ओर संकेत करते हैं। इसलिए...

Kuch Vishist Dhan Yog

कुछ विशिष्ट धन योग

आधुनिक भौतिकतावादी युग में धन की महत्ता इतनी अधिक बढ़ चुकी है कि धनाभाव में हम विलासितापूर्ण जीवन की कल्पना तक नहीं कर सकते, विलासित जीवन जीना तो बहुत दूर की बात है।

Janmke paye ke bareme janana

जन्म के पाया के बारे में जानना

पाया का विचार दो प्रकार से किया जाता है नक्षत्र से तथा चंद्रमा से जन्म के पाया के बारे में जानना – पाया का विचार दो प्रकार से किया जाता है नक्षत्र से तथा...

Ravi Pushya Yog

रवि पुष्य योग

रवि पुष्य योग समस्त शुभ और मांगलिक कार्यों के शुभारंभ के लिए उत्तम माना गया है। यदि ग्रहों की स्थिति प्रतिकूल हो अथवा कोई अच्छा मुहूर्त नहीं भी हो, ऐसी स्थिति में भी रवि पुष्य योग सभी कार्यों के लिए परम लाभकारी होता है लेकिन विवाह को छोड़कर।

Prem Aur Prem Vivaah | Love Marriage | Marriage | Love | Couple | Happy Couple

प्रेम व प्रेमविवाह के योग

प्रेम व प्रेमविवाह के योग
आज के समय मे लडका लडकी की आपसी पसदं से विवाह होना आम बात है बच्चो की खुशी के लिए माँबाप भी मना नही करते लेकिन हर विवाह चाहे लव हो अच्छे से चल जाए ऐ बहुत बडी बात है।