Tagged: Yog

स्वपन

सपनों से जीवन का क्या सम्बन्ध है

क्या होता है जब सपने आते हैं? ज्योतिष शास्त्र में सपनों को लेकर कई मान्यताएं प्रचलित हैं। जिसके अनुसार सपने हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में बताते हैं।कुछ सपने शुभ फल...

AkashVani Santan Yog

प्रत्येक स्त्री का स्वप्न होता है

‘माँ ‘ बनना ! गर्भधारण करने के पश्चात तो स्त्री में यह जिज्ञासा ओर भी प्रबल हो जाती है कि पुत्र होगा अथवा पुत्री ! यों तो गर्भ में पुत्र/पुत्री जानने हेतु डाॅक्टरी उपकरण(अल्ट्रा...

Laghu Parashari ke Mukhya Siddhant

लघु सिद्धांत पाराशरी के मुख्य सूत्र

सभी ग्रह जिस स्‍थान पर बैठे हों, उससे सातवें स्‍थान को देखते हैं। शनि तीसरे व दसवें, गुरु नवम व पंचम तथा मंगल चतुर्थ व अष्‍टम स्‍थान को विशेष देखते हैं।

Janiye Aaj Mantrajprat Se Shuddhi Tan Man Aadi

जानिये आज मंत्रजप्रत से शुद्ध शरीर मन तन आदि

जानिये आज मंत्रजप्रत से शुद्ध शरीर मन तन आदि शास्त्रों में जन्मकुण्डली के बारह स्थान बताये गये हैं।

Jab Gharme Oog Jaaye Pipal Ka Paudha

जब घर में उग जाए पीपल का पौधा

घर में या आस-पास पेड़-पौधों का होना सकारात्मकता का संचार करता है। घर में या आस-पास पेड़-पौधों का होना सकारात्मकता का संचार करता है। वास्तु और ज्योतिष के अनुसार इनके शुभ प्रभाव से घर...

Kuch Vishist Dhan Yog

कुछ विशिष्ट धन योग

आधुनिक भौतिकतावादी युग में धन की महत्ता इतनी अधिक बढ़ चुकी है कि धनाभाव में हम विलासितापूर्ण जीवन की कल्पना तक नहीं कर सकते, विलासित जीवन जीना तो बहुत दूर की बात है।

Janmke paye ke bareme janana

जन्म के पाया के बारे में जानना

पाया का विचार दो प्रकार से किया जाता है नक्षत्र से तथा चंद्रमा से जन्म के पाया के बारे में जानना – पाया का विचार दो प्रकार से किया जाता है नक्षत्र से तथा...

Ravi Pushya Yog

रवि पुष्य योग

रवि पुष्य योग समस्त शुभ और मांगलिक कार्यों के शुभारंभ के लिए उत्तम माना गया है। यदि ग्रहों की स्थिति प्रतिकूल हो अथवा कोई अच्छा मुहूर्त नहीं भी हो, ऐसी स्थिति में भी रवि पुष्य योग सभी कार्यों के लिए परम लाभकारी होता है लेकिन विवाह को छोड़कर।

Kalsarpdosh Atal Satya

कालसर्प योग एक अटल सत्य

कालसर्प योग एक अटल सत्य
कालसर्प योग जो जातक के पूर्व जन्म के किसी जघन्य अपराध के दंड या शाप के फलस्वरूप कुंडली में होता है।